शराब गोदाम बन गया ठेका

पिण्ड़वाड़ा के नजदीक अजारी फाटक से कुछ दूरी और पधारोसा होटल से पहले हाइवे पर अंग्रेजी व देशी शराब के गोदाम पर शराब ठेकेदार द्वारा आबकारी नियमों को ठेंगा दिखाते हुए खुले आम शराब गोदाम से शराब बेची जा रही है। इस खबर और तस्वीर के बाद भी यदि आबकारी विभाग कार्रवाही नहीं करें तो आप खुद समझ जाइए।

  • भाजयुमो नगर अध्यक्ष सहित कई कारोबारियों की भूमिका पर सवाल
  • आबकारी महकमे व पुलिस थाने की भूमिका भी संदेह के दायरे में

मिरर न्यूज पिण्ड़वाड़ा। पिंडवाड़ा व अजारी क्षेत्र में अधिकृत शराब ठेक ों की आड़ में शराब ठेकेदारों द्वारा आबकारी नियमों को ठेंगा दिखाते हुए शराब गोदामों पर अवैध रूप से शराब की दुकानें चलाई जा रही है, जहां खुलेआम शराब बेची व पिलाई जा रही है, मगर आबकारी महकमे के साथ पिंडवाड़ा थाना पुलिस भी जानकर अनजान बना हुआ है। इससे पुलिस, प्रशासनिक एवं आबकारी अफसरों की भूमिका भी संदेह के दायरे में आ गई है। सबसे महत्तवपूर्ण पिंडवाड़ा के भाजयुमो नगर अध्यक्ष अशोक मेवाड़ा द्वारा भी वॉलकम चौराहा के पास अधिकृत शराब ठेके की आड़ में पुलिस थाना पिंडवाड़ा से कुछ कदम दूर ही अपने ही शराब गोदाम पर अवैध रूप से शराब बेची जा रही है।
सिरोही मिरर की पड़ताल के मुताबिक अजारी गांव में एक अधिकृत शराब की दुकान है, लेकिन ठेकेदार द्वारा पिंडवाड़ा हाइवे पर स्थित पधारो सा होटल से पहले शराब गोदाम पर अवैध रूप से खुलेआम शराब बेची जा रही है। इसी तरह पिंड़वाड़ा के आमली रोड पर अधिकृत दुकान की आड़ में ठेकेदार द्वारा आमली-सिरोही रोड पर शराब गोदाम पर अवैध रूप से शराब बेच रहे हैं। वहीं वॉलकम चौराहा के पास पिंडवाड़ा के भाजयुमो नगर अध्यक्ष अशोक मेवाड़ा द्वारा अधिकृत दुकान की आड़ में पुलिस थाना पिंडवाड़ा से कुछ कदम दूर ही शराब गोदाम पर ही खुले आम शराब बेची व पिलाई जा रही है।
इसके अलावा पिंड़वाड़ा-उदयपुर बस स्टेण्ड़ की अधिकृत दुकान की आड़ में शराब ठेकेदार द्वारा पिंड़वाड़ा-कांटल रोड़ पर पेट्रोल पम्प के पास शराब गोदाम के नाम से खुले आम शराब की दुकान चलाई जा रही है।
भाजयुमो नेता पर शराब गोदाम पर अवैध रूप से शराब बेचने का आरोप
भाजपा युवा मोर्चा पिंडवाड़ा नगर अध्यक्ष अशोक मेवाड़ा पर गत दिनों विद्युत चोरी निरोधक थाना पुलिस द्वारा बिजली चोरी के मामले में 68 हजार रुपए जुर्माने के रूप में भरे है। उल्लेखनीय है कि मेवाड़ा पर पहले भी स्प्रिट से शराब बनाने के मामले में न्यायिक मजिस्ट्रेट पिंड़वाड़ा द्वारा दोषी करार देते हुए एक वर्ष के कठोर कारावास की सजा सुनाई थी। इस तरह मेवाड़ा शराब की कालाबाजारी को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहे हैं।
आबकारी नियमों में नहीं शराब दुकान बेचने का नियम
जैसा कि तात्कालीन आबकारी अधिकारी मोहन राम पूनिया ने बताया कि कोई भी शराब दुकानदार अपनी शराब दुकान को बेच नहीं सकता है।
लेकिन पिंड़वाड़ा स्थित दुकान नं. 1 जो कि वॉलकेम चौराहे पर स्थित है यह दुकान मीरा कंवर के नाम से है लेकिन इस दुकान को भाजयुमो नगर अध्यक्ष पिंड़वाड़ा अशोक मेवाड़ा ने खरीदी है यह बात स्वयं अशोक मेवाड़ा ने सिरोही मिरर के रिपोर्टर को फोन पर बताया।
इसके अलावा सिरोही जिले में कई शराब दुकानदारों ने अपनी शराब दुकानें शराब ठेकेदारों को बेच दी है। विभाग जानकर भी अनजान बना हुआ है।
आबकारी को सिर्फ टारगेट की चिंता, नियम कायदों की उड़ रही है धज्जियां
जिले में शराब ठेकेदारों द्वारा खुले आम शराब गोदामों पर शराब बेचना, ओवर रेट लेना, शराब दुकानों के बाहर बड़े-बड़े पोस्टर व होर्डिग्स लगाना ताकि ग्राहकों को आर्कर्षित किया जा सके। इन सब पर आबकारी विभाग का ध्यान नहीं जाता या फिर ध्यान देना ही नहीं चाहते है। जिस कारण से शराब ठेकेदारों द्वारा आबकारी नियमों को तोडना आम बात है। लेकिन इसका विभाग पर कोई फर्क नहीं पड़ता है। उन्हें तो सिर्फ आबकारी टारगेट पूरा करने की चिंता सताती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »