आखिर हादसा होने के बाद ही सबक लेंगे हम!

मिरर न्यूज। जिला मुख्यालय पर जिला अस्पताल के मातृ शिशु कल्याण केन्द्र सिरोही के गेट के बाहर ही सिवरेज के नालों जो कि सही रखरखाव व निकासी नहीं होने के कारण गर्भवती महिलाओं, उनके परिवारजन और अन्य लोगों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। साथ ही इन नालों से गंदगी बाहर आ रही है जिससे बीमारियों का खतरा भी पनप रहा है और बरसात के समय ये नाले पानी से लबालब हो जाते है जिस कारण से कभी भी गर्भवती महिलाओं, उनके परिवारजन और अन्य लोगों के साथ बड़ा हादसा हो सकता है लेकिन हमारे यहां तो हादसा होने के बाद ही सभी की आंखें खुलती है उससे पहले सब सोये रहते है। ऐसे मामलों मेंं अस्पताल प्रशासन का रवैया हमेशा से ही सुस्त रहा है साथ ही जिला प्रशासन भी मौन है। जिसको लेकर शिकायतकत्र्ता गोपाल रावल ने पीएमओ दर्शन ग्रोवर से इस मामले में जब बात की तो उन्होंने बजट की समस्या बताई। और साथ पीएमओ दर्शन ग्रोवर से जब इस बारे में फोन पर बात करनी चाही तो उन्होंने फोन नहीं उठाया। इसका मतलब हादसे भले ही हो जाएं बजट आने तक इंतजार करना पडेगा। शिकायतकत्र्ता ने राजस्थान सम्पर्क पोर्टल पर शिकायत दर्ज करवाई है और साथ ही क्षेत्र के विधायक संयम लोढ़ा को भी इस विषय से अवगत कराया है। अब देखना यह है कि पहले हादसा अपनी दस्तक देता है या फिर सम्पर्क में दर्ज शिकायत जहां पहले से लगभग 1107 प्रकरण लम्बित है। वहां यह शिकायत अपना कितना असर दिखाती है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: